शनिवार, 5 जनवरी 2019

नौकरानी के प्रेम में डूबे 75 साल के रिटायर्ड प्रोफेसर ने शादी के 35 साल बाद मांगा तलाक

कहा जाता है कि इंसान जब प्यार में होता है तो उसके सोचने समझने की शक्ति कहीं खो जाती है। उसे सिर्फ अपने प्यार को पाने की धुन सवार होती है, चाहे इसके लिये उसे कुछ भी क्यों न करना पड़े। शायद यही कारण है कि लोगों ने प्यार अंधा होता है जैसी कहावत भी गढ़ रखी है। प्यार करने वालों के द्वारा अक्सर ऐसे ऐसे कारनामें किये जाते हैं जिन्हें सुनकर कोई भी हैरत में पड़ जाये। प्यार न उम्र देखता है, न जाति और धर्म। 

लेकिन भोपाल की फैमिली कोर्ट में आये एक मामले ने तो जज को भी हैरान कर दिया। दरअसल 75 साल की उम्र में एक रिटायर्ड प्रोफेशल महोदय ने अपनी शादी के 35 साल बाद अपनी पत्नी से तलाक के लिये कोर्ट में अर्जी लगाई है। कोर्ट ने जब पूरे मामले की तहकीकात कराई तो मामला चैंकाने वाला निकला। परिवार न्यायालय की सलाहकार नुरुनिशा खान ने जब प्रोफेसर के परिवार में जानकारी की तो पता चला कि प्रोफेशर आजकल अपनी नौकरानी के प्रेम में पागल हैं, और उससे शादी करने के लिये ही वह अपनी बीबी से तलाक लेना चाहते हैं।

बकौल प्रोफसर, वह नौकरानी से बेहद प्यार करते हैं और उनकी नौकरानी भी उन्हें बेइंतहा मोहब्बत करती है। यह अलग बात है कि प्रोफेसर दो बच्चों के पिता हैं, उनका एक बेटा तो इंजीनियर के रूप में एक बड़ी कंपनी में अपनी सेवायें दे रहा है। वहीं नौकरानी भी शादीशुदा और दो बच्चों की मां है। पर दोनों आजकल प्यार के हसीन सपनों में खोये है। उनके इस प्यार के चक्कर में घर वाले चकरघिन्नी बने हुये हैं। 

वहीं फैमिली कोर्ट को दी गई जानकारी में परिजनों ने कहा है कि प्रोफेसर को पहले भी कुछ नौकरानियों से प्यार हो चुका है। लेकिन इस बार बात यहां तक पहुंच जायेगी इसका अंदाजा घर में किसी को भी नहीं था। फिलहाल प्रोफेसर की हरकतों से नाराज उनकी बीबी और बच्चे उनसे अलग रहने लगे हैं। गौर करने की बात यह भी है कि प्रोफेसर अपनी जिस बीबी से तलाक लेना चाहते हैं उससे भी उन्होंने 35 साल पहले लव मैरिज ही की थी।

गुरुवार, 20 दिसंबर 2018

इस रहस्यमयी गुफा में आज भी मौजूद है भगवान गणेश का कटा हुआ सिर

दोस्तों यह दुनिया रहस्यों और रोमांचों से भरी हुई है। विज्ञान के दिन पर प्रगति करने के बाद विज्ञान की मदद से इंसान कई रहस्यांे के बारे में जान चुका है, पर प्रकृति के पास अब भी ऐसे रहस्यों की कमी नहीं है जिनके बारे में न तो इंसान पता लगा पाया है और न ही विज्ञान। विज्ञान की समझ से परे इन रहस्यों की इन दुनियों को जितना आप समझने की कोशिष करेंगे उतना ही इसमें उलझते जायेंगे।
आज हम आपको जिस गुफा के बारे में बताने जा रहे हैं उसके बारे में कहा जाता है कि इस गुफा में भगवान गणेश का कटा हुआ सिर आज भी रखा है। यही नहीं ऐसी भी मान्यता है कि इस गुफा में दुनिया के अंत से जुड़ा रहस्य भी छुपा हुआ है। जाहिर सी बात है रहस्य रोमांच से भरी इस गुफा को देखने के लिये यहां हजारों श्रद्धालु पहुंचते हैं। कोई अपनी किसी मनोकामना के पूरी होने की आश लेकर आता है तो कोई इस गुफा के रहस्य के आकर्षण में खिंचा चला आता है।
देवभूमि कहे जाने वाले उत्तराखंड के पिथौरागढ़ के गंगोलीघाट कस्बे में स्थित दुर्गम पहाड़ी स्थल पर है यह गुफा। इस गुफा की गहराई 90 फिट से भी अधिक है। जनसामान्य में मान्यता है कि इस गुफा को भगवान शिव के अनन्य भक्त और अयोध्या के राजा महाराज ऋतुपर्ण ने खोजा था। इस गुफा के अंदर 33 हजार देवी देवताओं की मूर्तियां हैं। लेकिन यहां सर्वप्रथम भगवान गणेश की ही पूजा की जाती है।

शुक्रवार, 14 दिसंबर 2018

दुनिया के सात अजूबों में से एक है सबसे उंचाई पर बसा यह रहस्यमयी शहर

दोस्तों बात जब दुनिया के सात अजूबों की होती है तो उनमें से कई तो ऐसे हैं जिनके नाम बरबस ही हमारे दिमाग में आ जाते हैं। जैसे ग्रेट वाॅल आॅफ चाइना और ताजमहल। वहीं कुछ अजूबे ऐसे भी हैं जो आमतौर पर मीडिया या सोशल मीडिया की सुर्खियों में नहीं रहते। लेकिन इनकी खूबसूरती और रहस्य किसी से कम नहीं। 

जी हां, आज हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसे ही एक अजूबे के बारे में। दुनिया में सबसे अधिक उंचाई पर बसा यह रहस्यमयी शहर है माचू पिच्चू। दुनिया के सात अजूबों में शामिल माचू पिच्चू को 1430 ई. के आस पास बसाया गया था। लेकिन इसके लगभग सौ वर्षों बाद जब इंकाओं ने स्पेनियों पर विजय प्राप्त कर ली तो इसे यूं ही छोड़ दिया गया। 

दक्षिण अमेरिका के पेरू में स्थित इस स्थान को इंका सभ्यता की आखिरी बची निशानियों में से एक माना जाता है। इतिहासकारों के अनुसार इस शहर को इंकाओं का खोया शहर भी कहा जाता है। माचू पिच्चू इंका साम्राज्य के सबसे परिचित प्रतीकों में से एक है।
इसके कई विशेषताओं के कारण ही 7 जुलाई 2007 को इसे विश्व के सात नये आश्चर्यों में शामिल किया गया। समुद्र तल से 3430 मीटर की उंचाई पर स्थित उरूबाम्बा घाटी में स्थित एक पहाड़ पर बसे इस शहर को 1981 में पेरू का ऐतिहासिक देवालय भी घोषित किया जा चुका है। वहीं वर्ष 1983 में इसे यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर का दर्जा भी दिया जा चुका है।

बुधवार, 12 दिसंबर 2018

रोता बिलखते पुलिस के पास पहुंचे पति ने कहा, कमरा बंद कर डंडे और बेलन से मारती है पत्नी

यंू तो पुलिस के पास परिवारिक लड़ाई झगड़ों से संबंधित ज्यादातर शिकायतें महिलायें ही लेकर पहुंचती हैं। लेकिन आजकल जब महिला सशक्तिकरण की आंधी चारों ओर चल रहीं है, तो ऐसे में बेचारे पुरूष भी हैरान परेशान है। अब पुलिस के परिवार परामर्श केन्द्रों में आने वाले ऐसे पुरुषों की बहुतायत है जो अपनी पत्नी के आतंक से परेशान हैं।
     
कोई अपनी पत्नी द्वारा मानसिक रूप से परेशान करने का आरोप लगाता है, तो कोई पत्नी द्वारा मारपीट करने का आरोप लगाता है। कुछ भी बेचारी पुलिस भी महिला सशक्तिकरण के इन ज्वलंत उदाहरणों को देखकर हैरान है। अभी हाल ही में लखनउ के ठाकुरगंज निवासी एक युवक ने पुलिस परामर्श केन्द्र में एक प्रार्थना पत्र देकर कहा है कि उसकी पत्नी उसे कमरा बंद कर बेलन और डंडे से बुरी तरह पीटती है, यही नहीं वह अपनी बुजुर्ग सास और ननद को भी नहीं छोड़ती। 
         वहीं लखनउ के ही फैजुल्लागंज के रहने वाले एक व्यक्ति ने अपनी शिकायत में कहा है कि उसकी शादी 21 वर्ष पहले पुरनिया से हुई थी। लेकिन अब उनकी पत्नी उन पर बिना वजह बेहद शक करती है, और आए दिन लड़ाई झगड़ा कर पूरे परिवार को परेशान नहीं करती है। यही नहीं जब उसने पत्नी की इन हरकतों का विरोध किया तो हैवान बनी पत्नी ने बेचारे पति महाशय को इतना पीटा कि उनका हाथ ही टूट गया। इन जनाब की पत्नी की हिम्मत इस कदर बढ़ी है कि कई बार तो पुलिस परामर्श केन्द्र में ही उसने पति की ठुकाई कर दी।        
        पुलिस परामर्श केन्द्र की इंचार्ज बबिता सिंह के मुताबिक ऐसे मामलों में पत्नी का समझाने में बड़ी समस्या आती है। अक्सर इस तरह की महिलायें न तो अपने पति की सुनतीं हैं, और न ही परामर्श केन्द्र पर मौजूद पुलिस कर्मियों अथवा काउंसलों की। दबाब बनाने पर वह तलाक करवाने की धमकी देने लगतीं हैं। यह बात और है कि पुलिस उन्हें समझा बुझाकर परिवार को बचाये रखने की पूरी कोशिष करती है।

मंगलवार, 11 दिसंबर 2018

समाज से लड़कर लव मैरिज करने वाली जयपुर की राजकुमारी दिया अब मांग रहीं हैं तलाक

आज से 21 वर्ष पूर्व वह चर्चा में तब आयीं थी जब उन्होंने अपने परिवार ही नहीं बल्कि पूरे समाज से बगावत कर अपने ही गोत्र में नरेन्द्र सिंह से प्रेम विवाह किया था। उनके इस विवाह से राजपरिवार के लोग तो नाराज थे ही पूरे राजपूत समाज में भी काफी आक्रोश था। इसके पीछे का कारण था कि राजकुमारी दिया और नरेन्द्र सिंह दोनों एक ही गोत्र के थे। जाहिर सी बात है इस शादी को परिवार और समाज की ओर से पुरजोर विरोध हुआ, पर अपने निर्णय पर अडिग राजकुमारी ने आखिरकार नरेन्द्र सिंह से शादी रचा ही ली। 

अब एक बार फिर जयपुर राजघराने की यह राजकुमारी चर्चा में है। इस बार भी उनके चर्चा में आने का कारण उनकी निजी जिंदगी ही है। दरअसल राजकुमारी दिया ने 21 साल के वैवाहिक जीवन के बाद अब अपने पति नरेन्द्र सिंह से तलाक के लिये गांधी नगर स्थित फैमिली कोर्ट में अर्जी लगाई है। माना जा रहा है कि कोर्ट जल्द ही दीया कुमारी की अर्जी पर सुनवाई कर सकता है। 

कभी अपनी प्रेम कहानी पर पूरा ब्लाग लिखने वाली दिया कुमारी ने अपने और नरेन्द्र सिंह के रिश्तों के बारे में खुलकर आम जनता को सारी जानकारी दी थी। उन्होंने इस ब्लाॅग में लिखा था कि जब वह पहली बार नरेन्द्र सिंह से मिलीं थीं, तो उनकी उम्र महज 18 साल की थी। वह वर्ष 1989 था, जब नरेन्द्र ग्रेजुएशन करने के बाद चार्टर्ड एकाउंटेंट की तैयारी कर रहे थे। इसी दौरान वह महल में कुछ काम से आये थे, चूंकि मैं भी एकाउंटस में मदद कर रही थी, इसलिये हमारी और उनकी मुलाकात हुई। मुझे उनसे बात करके काफी अच्छा लगा।

दिया लिखतीं हैं कि, उनकी ईमानदारी और केयरिंग स्वभाव मुझे बहुत अच्छा लगा। आमतौर पर भारतीय पुरुषों में यह कम ही देखने को मिलता है। मुझे उनसे पहली नजर में प्यार नहीं हुआ। हां धीरे धीरे जब उनकी अच्छाइयों को जाना तो जरूर लगा कि कुछ तो हो रहा है। इसके बाद जब मुझे अपने माता पिता के साथ विदेश जाना पड़ा तो मुझे वहां नरेन्द्र की काफी याद सताने लगी। इसी समय मुझे महसूस हुआ कि मैं नरेन्द्र को चाहने लगी हूं। लेकिन जब मैने अपनी मां को इस बारे में बताया तो उन्होंने मुझे बहुत डांटा। उधर नरेन्द्र के माता पिता भी हमारे मिलने जुलने के काफी खिलाफ थे। इसके बाद राजकुमारी दिया और नरेन्द्र दोनों ने अपने अपने परिवारों के खिलाफ जाकर अगस्त 1997 में कोर्ट मैरिज कर ली। जाहिर सी बात है इस रिश्ते के परिणामस्वरूप राजपूत समाज ने हमारा भारी विरोध किया। यही नहीं राज परिवार से भी हमारा रिश्ता खत्म कर दिया गया। जयपुर के महाराजा भवानी सिंह की इकलौती बेटी दिया के दो बेटे पद्यनाभ सिंह और लक्ष्यराज सिंह हैं, उनकी एक बेटी भी है जिसका नाम गौरवी है। 

सोमवार, 10 दिसंबर 2018

रिसेप्शसनिस्ट मर्डर केस, आॅनलाइन फ्रेंड्स क्लब बना शहरों में सप्लाई होतीं थी लड़कियां

रिसेप्शसनिस्ट मर्डर केस, आॅनलाइन फ्रेंड्स क्लब बना शहरों में सप्लाई होतीं थी लड़कियां


उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनउ के विभूति खंड में होटल कर्मी कृष्ण प्रताप सिंह की हत्या के मामले में पुलिस को नित नये राज मिल रहे हैं। हत्यारोपियों द्वारा कई ऐसे खुलासे किये गये हैं जिनके बारे में जानकर कोई भी हैरान रह गये। दरअसल यह लोग आॅनलाइन फ्रेंड्स क्लब के नाम पर लोगों को अपना सदस्य बनाते थे और फिर सदस्यों की इच्छानुसार किसी भी शहर में उन्हें लड़कियों की सप्लाई की जाती थी। 

लखनउ के हजरतगंज इलाके के सीओ अभय कुमार मिश्र ने मीडिया को जानकारी देते हुये बताया है कि आॅनलाइन फ्रेंड्स क्लब में शामिल युवक और युवतियां सोशल मीडिया के माध्यम से ही एक दूसरे के संपर्क में रहते थे। यही नहीं आरोपित युवक अभय ने व्हाट्सएप ग्रुप के साथ साथ अलग अलग नाम से आॅनलाइन दोस्ती करने के इछुक लोगों के लिये दो बेबसाइटें भी बना रखीं हैं, जिनके माध्यम से वह लोगों को अपने जाल में फंसाता था। 
   इनके क्लब के माध्यम से लड़कियों से दोस्ती करने के इच्छुक लोगों को पहले इनकी बेबसाइट पर जाकर सदस्यता शुुल्क के नाम पर एक तय रकम का भुगतान करना होता था, इसके बाद सदस्यों को लड़कियों की फोटो दिखाई जाती थी। ग्राहक के पसंद की लड़की को उसके पास भेजने के लिये फिर से पैसा लिया जाता था। पुलिस की पूछताछ में सामने आया है कि इन लोगों ने पूरे देश में अपना यह जाल फैला रखा था। यही नहीं कई लोगों से एडवांस में रुपये लेने के बाद इन लोगों ने उनके नंबर ब्लाक कर दिये, रुपये गंवाने के बाद भी लोग लोक लाज के भय से इनकी शिकायत भी नहीं कर पाते थे।
      इनके क्लब के सदस्य बनने वाले ज्यादातर लोग अपने नाम, पते, उम्र आदि गलत बताते थे। साथ ही पैसों का लेन देन पेटीएम जैसे एप्प के माध्यम से किया जाता था। होटल की बुकिंग जैसे कामों के लिये भी पेटीएम अथवा ओयो एप्प जैसे माध्यमों का प्रयोग किया जाता था। फिलहाल पुलिस ने कृष्ण प्रताप की हत्या के आरोप में उत्तराखंड के उधमसिंह नगर निवासी धीरज नारंग, अमेठी निवासी अभय, गोंडा निवासी हरिओम व उसके साथी राधे को जेल भेज दिया है। वहीं दिल्ली निवासी दोनों युवतियों गुरुमीत व रुबी को पुलिस न्यायालय के आदेश पर पहले ही जेल भेज चुकी है।

रविवार, 12 अगस्त 2018

500 से ज्यादा कारें चोरी करने वाला सुपर चोर गिरफ्तार, हवाई जहाज से आता था चोरी करने

गौर कीजिये एक ऐसा चोर जो कार चुराने के लिये खासतौर पर हैदराबाद से दिल्ली हवाईजहाज से आता था, और कार चुराने के बाद हवाई जहाज से ही वापस भी चला जाता था। पुलिस को चकमा देते हुये उसने महज पांच सालों में एक दो या फिर दस बीस नहीं बल्कि पूरी 500 कारें चोरी कर डालीं। पुलिस के लिसे सिरदर्द बने इस शातिर चोर को आखिरकार पुलिस ने दबोच ही लिया।
पांच लाख रुपये का इनामी यह चोर बीती 3 अगस्त को दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने मीडिया को दी गई जानकारी में बताया कि यह शातिर चोर अपने साथियों के साथ हवाई जहाज से दिल्ली में आता था और उत्तरी दिल्ली के नंद नगरी इलाके में कुछ दिन रूककर किसी लक्जरी गाढ़ी को चोरी करने के बाद उसे ठिकाने लगा देता था, इसके बाद अपने साथियों के साथ हवाई जहाज से ही हैदराबाद वापस चला जाता था। उसकी वेशभूषा से यह मालूम होता कि वह कोई बड़ा बिजनेसमैन है। 
पुलिस पूछताछ में सरफुद्दीन नाम के इस शातिर चोर ने बताया कि लक्जरी गाड़ियों के सिक्योरिटी सिस्टम में सेंध लगाकर उन्हें चुराने के लिये लैपटाॅप, साॅफ्टवेयर, जीपीएस हैकर व दूसरे कई हाईटेक गैजेट्स साथ लेकर चलते थे। यह लोग सिर्फ मंहगी गाड़ियों को ही चोरी करते थे।
डीसीपी पूर्वी जिला पंकज कुमार के अनुसार सरफुद्दीन के अलावा उसके साथियों अप्पन उर्फ सलीम, इकराम उर्फ मकबूल, सुहैल, हारुन और सुल्तान शेख को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। इन लोगों के पास कई लक्जरी गाड़ियां, बांग्लादेशी पासपोर्ट, दो तमंचे व दस लाख रुपये कीमत के जेवरात भी बरामद किये गये हैं। 

गजब, 20 भूतों के साथ संबंध बना चुकी है यह लड़की, अब बच्चा पैदा करने का प्लान

भूत का नाम सुनकर ही किसी भी साधारण इंसान के रोंगटे खड़े हो जाते हैं। वैसे भी लड़कियों को तो स्वभावतः नाजुक और कीड़े मकोड़ों तक से डरने वाला माना जाता है। ऐसे में यदि आपसे कहा जाये कि इस दुनिया में एक ऐसी भी लड़की है जो भूतों से इश्क लड़ाती है और वह भी एक दो भूतों से नहीं बल्कि 20 से ज्यादा भूतों से। तो आप क्या कहेंगे।
20 भूतों के साथ बनाये हैं संबंध
दरअसल बेबसाइट डेली मेल यूके के मुताबिक इंग्लैंड के ब्रिस्टल में रहने वाली एक लड़की के भूतों से संबंध बनाने के शौक ने इन दिनों सनसनी मचा रखी है। जो भी भूतों से इश्क लड़ाने के इस किस्से को सुनता है हैरान रह जाता है। पेशे से काउंसर इस लड़की का दावा कि अब तक वह 20 भूतों के साथ संबंध स्थापति कर चुकी है। यही नहीं अब उसका प्लान किसी भूत के साथ बने रिश्ते से बच्चा पैदा करने का है। 
आईटीवी के चैट शो में किया खुलासा
आईटीवी के चैट शो दिस माॅर्निंग में इस लड़की ने बताया कि इन दिनों वह एक आॅस्टिेलियाई भूत के साथ रिश्ते में है। इस भूत के साथ अपनी पहली मुलाकात के बारे में जानकारी देते हुये उसने बताया कि एक दिन मैं आॅस्टेलिया में झाड़ियों के पास से गुजर रही थी। तभी मुझे एक असाधारण उर्जा का अहसास हुआ। मैं उसको देख तो नहीं सकती मगर महसूस कर सकती हूं। वह मेरे साथ यूके आ गया, अब मैं उसके साथ एक बच्चा प्लान कर रही हूं। लड़की का कहना है कि यह सुनने में काफी अजीब लगता है, पर फैंटम प्रैंग्नेंसी की थ्योरी के अनुसार यह संभव है।
दस साल से है भूतों से रिश्ता
लड़की ने जानकारी दी कि दस वर्ष पहले वह अपने प्रेमी के साथ नये घर में शिफ्ट हुई थी। जब वह घर में अकेली होती थी, तो भूतों के साथ संबंध बनाती थी। प्रेमी को उस पर शक हुआ कि वह उसे धोखा दे रही है, तो उसने रिश्ता खत्म कर दिया। फिर तीन साल तक उसी भूत के साथ लड़की रिश्ते में रही। 
कैसे संभव है भूतों के साथ संबंध
लंदन स्थित गोल्ड स्मिथ काॅलेज में मनोविज्ञान के प्रोफेसर क्रिस्टोफर फ्रेंच ने कहा कि लड़की को कोई बीमारी तो नहीं हैं। लेकिन उसको जो अनुभव हो रहा है वह स्लीप पैरालिसिस की वजह से भी हो सकता है। यदि कोई तनाव में है या थका हुआ है तो उसे यह भ्रम हो सकता है। ऐसा किसी स्वस्थ व्यक्ति के साथ भी मुमकिन है।

शुक्रवार, 3 अगस्त 2018

जहां लिये शिव पावर्ती ने सात फेरे, उसी स्थान पर होगी मुकेश अंबानी के बेटे आकाश की शादी

रिलायंस घराने के मुखिया और देश के सबसे अमीर व्यक्ति के रूप में पहचाने जाने वाले मुकेश अंबानी के बेटे आकाश अंबानी और मशहूर हीरा कारोबारी रशेल मेहता की बेटी श्लोका मेहता की शादी से जुड़ी खबरें काफी समय से सोशल मीडिया में ट्रेंड कर रहीं हैं। पिछले दिनों अंबानी परिवार द्वारा दी गई आकाश श्लोका की भव्य इंगेजमेंट पार्टी पूरे देश की मीडिया में भी सुर्खियों में छायी रही थी।
इस बार फिर एक खास वजह को लेकर यह शादी चर्चा में है, और यह वजह है शादी का स्थान। जी हां, मुकेश अंबानी ने अपने बेटे की शादी के लिये किसी विदेशी डेस्टिनेशन अथवा शानदार रिजोर्ट को न चुनकर एक ऐसे स्थान को चुना है जो धार्मिक दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण स्थान रखता है। इस स्थान के बारे में मान्यता है कि यहीं पर भगवान शिव और माता पार्वती ने अपने विवाह के दौरान सात फेरे लिये थे।
रुद्रप्रयाग जिले में है त्रियुगी नारायण मंदिर
देवभूमि उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थिति त्रियुगी नारायण मंदिर में आकाश और श्लोका की शादी की तैयारियां प्रारम्भ होने वाली है। इस संबंध मंे रिलायंस के अधिकारियों की एक टीम ने यहां पर उत्तराखंड सरकार की ओर से तैयार कराये जा रहे वेडिंग डेस्टिनेशन और मंदिर के बारे में पूरी जानकारी एकत्रित की। वहीं उत्तराखंड सरकार भी इस मौके को भुनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती, क्यों कि यदि यह हाईप्रोफाइल शादी यहां होती है तो सरकार को बिना पैसा खर्च किये ही जबरदस्त ब्रांडिंग का फायदा मिलेगा। 
मंदिर में जल रही है तीन युगों से ज्वाला
बेहद प्राचीन त्रियुगी नारायण मंदिर के बारे में मान्यता है कि यहां शादी करने वाले जोड़े की जिंदगी बेहद खुशगवार रहती है। इसी मंदिर में भगवान शिव और पार्वती का विवाह हुआ था, आज भी उसकी निशानियां यहां मौजूद हैं। मान्यता है कि मंदिर में जल रही ज्वाला पिछले तीन युगों से यूं ही जल रही है। इसी ज्वाला को साक्षी मानकर भगवान शिव और माता पार्वती ने सात फेरे लिये थे। इस मंदिर में आने वाले श्रद्धालु यहां जल रही ज्वाला की राख अपने साथ ले जाते हैं। मान्यता है कि यह राख वैवाहिक जीवन में आने वाली सभी परेशानियों को दूर कर देती है।

मंगलवार, 31 जुलाई 2018

बिना कपड़ों के सोने के लिये किया जाता था मजबूर, हर रात होता था रेप, मुजफ्फरपुर बालिका गृह

बिहार के मुजुफ्फरपुर के बालिका गृह से हर रोज समाज को शर्मसार करने वाली खबरें आ रहीं हैं। जिस बालिका गृह में पुलिस अनाथ और निराश्रित बालिकाओं को आश्रय के लिये भेजती थी, उसमें उन बालिकाओं के साथ हैवानियत का ऐसा खेल खेला जाता था कि सुनकर ही किसी की भी रूह कांप जाये।
जैसे जैसे पीड़ित लड़कियां अपनी आपबीती डाॅक्टरों और मीडिया के सामने बता रहीं हैं वैसे वैसे यहां के गंदे खेल की एक एक पर्त खुलती जा रही है। बालिका गृह की कई लड़कियों ने अपने बयान में कहा कि रात को कीड़े की दवाई खिलाने के बहाने हमें नशीली दवा दे दी जाती थी, इसके बाद नशे में हमें बिना कपड़ों के सोने के लिये मजबूर किया जाता था। यही नहीं जो भी लड़की इसका विरोध करती थी उसकी बेरहमी से पिटाई भी की जाती थी।

बालिका गृह संचालक के कमरें में भेजी जातीं थी लड़कियां

विशेष पाक्सो अदालत के सामने अपनी आपबीती बयान करते हुये एक लड़की ने कहा कि बालिका गृह की आंटियां हमें रात में ब्रजेश सर के कमरे में सोने के लिये मजबूर करतीं थीं। रात में सोते समय खाने में उन्हें नशीली चीज दे दी जाती थी। इसके बाद उनके साथ क्या हुआ उन्हें होश ही नहीं रहता था। सुबह सोकर उठने पर सारे कपड़े फर्श पर बिखरे मिलते थे और पूरे शरीर में दर्द होता था

एनजीओ का प्रमुख है ब्रजेश ठाकुर

बिहार के मुजफ्फरपुर के इस बालिका गृह का संचालन एक गैर सरकारी संगठन यानी एनजीओ करता है। इस एनजीओ का संचालक ब्रजेश ठाकुर नाम का एक शख्स है। इस शख्स पर आरोप लगाते हुये यहां की एक लड़की ने कहा कि ब्रजेश उसे अक्सर अपने आॅफिस में बुलाता था और उसके निजी अंगो से छेड़खानी करता था। अदालत के सामने पीड़ित बालिका ने बताया कि वह इतनी बुरी तरह से शरीर पर खरोंचता था कि निशान पड़ जाते थे।

सभी आरोपी पुलिस हिरासत में

बालिका गृह का संचालक ब्रजेश ठाकुर अपने अन्य सहयोगियों के साथ इस समय न्यायिक हिरासत में है। वहीं पुलिस का मानना है कि पिछले पांच वर्षों के समय में इस बालिका गृह में सैकड़ों लड़कियों को लाया गया। बालिका गृह के आस पास रहने वाले लोगों ने अक्सर यहां लड़कियों के चीखने चिल्लाने की आवाजें तो सुनी पर किसी ने भी कोई जानकारी करने की कोशिष नहीं की। फिलहाल पीड़ित लड़कियों का मानसिक एवं शारीरिक उपचार किया जा रहा है, ताकि वह साधारण जिंदगी जी सकें।

सोमवार, 30 जुलाई 2018

सुहाग रात के दिन दुल्हन ने किया कुछ ऐसा कि सुबह होने पर पति को दिखे दिन में तारे

शादी की पहली रात यानी सुहाग रात को लेकर हर युवक युवती के मन में ढेर सारे सपने होते हैं। हों भी क्यों न, आखिर यह एक ऐसा दिन होता है जिस दिन दो अजनबी एक दूसरे के लिये सबसे खास बन जाते हैं। शायद यही कारण है कि इस दिन जहां पत्नी अपना सर्वस्व पति की सेवा में समर्पित कर देती है, वहीं पति भी अपनी पत्नी को आजीवन साथ निभाने का वचन देता है।
लेकिन बिहार के भभुआ शहर का एक पति इतना खुशनसीब नहीं निकला। दरअसल उसकी पत्नी ने उसे सुहागरात के दिन ही दिन में तारे दिखा दिये। जी हां, भभुआ शहर की रहने वाली शीला देवी अपने 40 वर्षीय बेटे पंकज कुमार के लिये बड़े अरमानों से नयी नवेली दुल्हन को ब्याह कर अपने घर लायीं थीं। लेकिन दुल्हन सुहागरात वाली रात ही अपने पति को बेहाश कर घर का सारा माल जेवर लेकर रातों रात फरार हो गई। 
दुल्हन के फरार होने पर हैरान परेशान पंकज कुमार और उसकी मां शीला देवी जब उसकी शादी कराने वाले मध्यस्थ को दुल्हन की करतूत के बारे में बताया तो वह भी दंग रह गया। लेकिन उसने परिवार को आश्वासन दिया कि वह फरार दुल्हन को दो चार दिन में खोज कर वापस ले आयेगा। लेकिन जब वह ऐसा नहीं कर पाया तो शीला देवी ने दुल्हन, उसके परिवार और रिश्ता करवाने वाले मध्यस्थ के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है, और दुल्हन अभी फरार है।

सोमवार, 11 जून 2018

महिला आईएएस अधिकारी का आरोप, सीनियर ही नहीं ड्राइवर भी करते थे मेरे साथ यह गन्दा काम

एक ओर देश में महिला सशक्तिकरण के लिये नित नयी योजनायें बनायी जा रहीं हैं और महिलाओं को सुरक्षा, सम्मान दिये जाने के ढेरों वादे और इरादे जाहिर किये जा रहे। लेकिन दूसरी ओर आम महिलाओं की कौन कहे प्रशासनिक सेवा में सर्वोच्च सेवा मानी जाने वाली आईएएस महिला अधिकारी भी खुद को गंदी नजर वाले पुरुषों से बचाने में बेबस नजर आ रही है। 

इसका ज्वलंत उदाहरण हरियाणा से सामने आया है। जहां एक महिला आईएएस अधिकारी ने राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों पर शारीरिक शोषण का सनसनीखेज आरोप लगाया है। महिला अफसर ने अपने आरोपों में कहा है कि हरियाणा पशुपालन विभाग के प्रमुख सचिव सुनील गुलाटी ने न केवल उनका शारीरिक शोषण किया वरन उन्हें सार्वजनकि जगहों पर भी अपमानित और परेशान किया। 

यही नहीं महिला अधिकारी का कहना है कि उनके डाइवर भी जब वह गाड़ी में कहीं जातीं हैं तो उनके सामने गंदे इशारे करते हैं, और उनको अपमानित करने की कोशिष करते हैं। उनके ऐसा करने के पीछे वह अपने वरिष्ठ अधिकारियों की शह मानतीं हैं। इन सबके के पीछे के कारण के बारे में पूछने पर इस महिला आईएएस अधिकारी का कहना है कि यह सब सिर्फ इसलिये किया जा रहा है क्यों कि मैं ईमानदार हूं।

वहीं आरोपी प्रमुख सचिव सुनील गुलाटी ने अपने उपर लगे आरोपों को पूरी तरह निराधार बताते हुये कहा है कि वह तो सिर्फ महिला अधिकारी को काम सिखाने की कोशिष कर रहे थे। श्री गुलाटी का कहना है कि मैने कभी उक्त महिला अधिकारी को अकेले में नहीं बुलाया, जब भी वह मुझसे मिली तो कोई न कोई दूसरा अधिकारी भी मेरे साथ होता था। 

वहीं महिला अधिकारी का कहना है कि श्री गुलाटी का मेरे प्रति व्यवहार अमर्यादापूर्ण और अनैतिक रहा है। उन्होंने मेरे साथ कई बार गलत काम करने की कोशिष की और बात न मानने पर नौकरी खतरे में डालने, जान से मारने जैसी धमकियां भी दीं। 

जाहिर सी बात है ऐसे में यह सोचने की जरूरत है कि जिस देश में आईएएस महिला अधिकारी के साथ यह हो सकता है, वहां एक आम महिला कितनी सुरक्षित है। 

शुक्रवार, 27 अप्रैल 2018

365 रानियों के पति रहे इन महाराजा के खास महल में बिना कपड़ों के ही मिलता था प्रवेश

इतिहास में अनेकों ऐसा राजा महाराजा हुये है जिन्हें उनके शासनकाल के दौरान किये गये अच्छे कामों के लिये कम उनकी रंगीन मिजाजी के लिये ज्यादा जाना जाता है। ऐसे ही एक राजा के बारे में आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताने जा रहे हैं, इन राजा की रंगीन मिजाजी के सैकड़ों किस्से इतिहास के पन्नों में दर्ज हैं।
दीवान ने किये महाराजा के राज उजागर
जी हां, हम बात कर रहे पटियाला में 38 वर्षों तक शासन करने वाले महाराजा भूपिन्दर सिंह पटियाला के बारे में। 12 अक्टूबर 1981 को मोती बाग पैलेस, पटियाला में जन्मे भूपिन्दर सिंह महाराजा राजिन्दर सिंह की मौत के बाद राज्य के शासक बने थे। महाराजा भूपिन्दर सिंह की जिंदगी के कई राजों को उनके दीवान रहे जरमनी दास ने अपनी किताब ‘महाराजा’ में उजागर किया है।
लीला भवन नाम से बनवाया भव्य महल
किताब के अनुसार महाराजा भूपिन्दर सिंह ने अपनी आशिकमिजाजी के चलते पटियाला में लीलाभवन नाम का एक भव्य महल बनवाया था। इस महल की खास बात यह थी कि यहां बिना कपड़ों के ही प्रवेश दिया जाता था। इस महल की दीवारों पर प्रेम लीला में डूबे युगलों के चित्रों को दीवारों पर उकेरा गया था। 
महल में था स्विमिंग पूल भी
साथ ही महाराजा एवं उनके खास मेहमानों के लिये महल में एक विशाल स्वीमिंग पूल की भी व्यवस्था की गई थी। इस पूल में खास पार्टियों का आयोजन किया जाता था, जिसमें महाराजा की प्रेमिकायें और उनके कुछ खास मेहमानो को ही प्रवेश दिया जाता था।
365 शादियां कीं
किताब के अनुसार महाराजा भूपिन्द्र सिंह पटियाला ने अपने जीवनकाल में 365 शादियां की और 88 बच्चों के पिता बने। कहा जाता है कि महाराजा की सबसे प्रिय पत्नी बख्तावर कौर इतनी खूबसूरत थीं कि उन्हें क्वीन मैरी की उपाधि दी गई थी।

खूबसूरत लड़कियों को नौकरी पर रख रहीं यह कंपनियां, काम जानकर हैरान रह जायेंगे

व्यावसायिक जगत में बढ़ती प्रतिस्पर्धा के कारण आजकल कई कंपनियों के कर्मचारी भारी तनाब के दौर से गुुजरते हैं, ऐसे में उनकी प्रोडक्टिविटी पर भी विपरीत असर पड़ता है। वहीं आईटी क्षेत्र में प्रोग्रामर्स का सारा काम दिमागी मेहनत का होने के कारण अक्सर कर्मचारी अनिद्रा, तनाव जैसी समस्याओं के शिकार हो जाते हैं।
लेकिन चीन की कुछ कंपनियों ने इस समस्या का बड़ा ही मजेदार समाधान निकाला है, यहां अपने प्रोग्रामर्स को थकान और तनाव से राहत दिलाने के लिये खूबसूरत लड़कियों को काम पर रखा जा रहा है। इनका काम कर्मचारियों को तनाव मुक्त रखना है।
 प्रोग्रामर मोटीवेटर्स है पद का नाम
जिस पद पर इन लड़कियों की नियुक्ति की जा रही है, उसे प्रोग्रामर मोटीवेटर्स का नाम दिया गया है। प्रोग्रामर मोटीवेटर की नियुक्ति के लिये कंडीडेट में कुछ विशेषताओं का होना जरूरी है जिनमें बेहतर कम्युनिकेशन स्किल के साथ साथ खूबसूरती एक अनिवार्य शर्त है।
क्या है इनका काम
इन लड़कियों का काम प्रोग्रामर्स की मसाज करना, उनसे बातचीत करके उन्हें प्रोत्साहित करना तो है ही इसके साथ इन लड़कियों को जन्मदिन, शादी की सालगिरह, कंपनी से जुड़े इवेंट्स, पार्टी आदि के आयोजन और पार्टी में अतिथियों का स्वागत सत्कार करने की जिम्मेदारी भी सौंपी जाती है।
कितनी है सैलरी
इंजीनियरिंग, मनोचिकित्सक, डाॅक्टरी जैसी पढ़ाई करने वाली लड़कियां भी बेझिझक इस प्रकार की नौकरियों को स्वीकार कर रही हैं, इन्हें सैलरी के रूप में आम तौर पर 60 से 65 हजार रुपये तक प्रति माह मिलते हैं। यह और बात है कि कई लोग और संगठन इसे महिला विरोधी बताते हुये इसे महिलाओं का अपमान बता रहे हैं। 

यह कंपनी देगी इस साल 80 हजार लोगों को नौकरी

दूरसंचार के क्षेत्र में अपने सस्ते डाटा प्लान और फ्री काॅलिंग के दम पर क्रंाति ला देने वाली कंपनी जियो इस साल बंपर भर्तियां करने जा रही है। कंपनी के मुख्य मानव संसाधन अधिकारी संजय जोग ने हैदराबाद में पत्रकारों को जानकारी देते हुये बताया कि मौजूद वित्तीय वर्ष कंपनी में लगभग 75 हजार से 80 हजार के बीच नये लोगों के आने की पूरी संभावना है। 
श्री जोग ने कहा कि कंपनी ने 6000 से ज्यादा काॅलजों के साथ भागीदारी की हुई है, इसके अलावा भर्तियों के लिये सोशल मीडिया प्लेटफार्म का भी प्रयोग किया जायेगा। साथ ही रेफरल भर्तियों को सर्वोच्च प्राथमिकता पर रखा जायेगा।
दूरसंचार क्षेत्र में नयी खिलाड़ी होने के बाबजूद पुरानी कंपनियों को नाको चने चबबा देने वाली जियो ने अपने जियोफोन के माध्यम से फीचर फोन के बाजार मंे भी 36 फीसदी की हिस्सेदारी हासिल कर ली है। ऐसे में अपने तेजी बढ़ते ग्राहकों और मोबाइल टाॅवर के नेटवर्क को व्यवस्थित रखने के लिये जाहिर सी बात है कंपनी को बड़ी मात्रा में कर्मचारियों की आवश्यकता होगी।

शनिवार, 31 मार्च 2018

आज की दुनिया के सबसे खतरनाक व्यक्ति की बीबी की खूबसूरती देखकर पलके झपकाना भूल जाते हैं लोग

वर्तमान में यदि दुनिया के सबसे खतरनाक और रहस्यमयी व्यक्ति की बात की जाये तो निश्चित रूप से पहले पायदान पर होंगे उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन। एक सनकी और कुछ भी कर गुजरने वाले तथा दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका को भी नाको चने चबबा देने वाले किम जोंग उन ने खुद को इस कदर कुख्यात कर लिया है कि अमेरिका भी उनसे सीधे टकराने से बचता है।
अपने पिता की मौत के बाद मात्र 30 साल से कम की उम्र में उत्तर कोरिया की सत्ता संभालने वाले किम जोंग और उनका देश उत्तर कोरिया इतने रहस्यों से भरा है कि हर कोई उनके और उनके देश के बारे में जानने को उत्सुक रहता है। साथ ही लोग यह भी जानने में जिज्ञासा रखते हैं कि आखिर अमेरिका जैसे देश की धड़कने बढ़ा देने वाले इस सनकी तानाशाह की पत्नी कैसी होगी।
ऐसे में लोगों ने जब चीन के दौरे पर गये उत्तर कोरिया के तानाशाह की बेहद खूबसूरत पत्नी को देखा तो उनकी आंखे खुली की खुली रह गईं। चीनी मीडिया ने उनकी पत्नी की खूबसूरती और उनकी ड््रेसिंग सेंस की जमकर तारीफ की है।
किम जोंग उन की पत्नी भी हैं एक रहस्य
किम जोंग और उनकी देश जितना रहस्यमय है उतनी है रहस्यमय है उनकी पत्नी रि सोल जु। दरअसल किम जोंग उन से शादी से पहले का उनका जीवन आज भी एक रहस्य ही है। लोगों का कहना है कि रि सोल जु का असली नाम कुछ और है, लेकिन किम जोंग से शादी के बाद पहचान छुपाने के लिये उन्हें यह नाम दे दिया गया है।
28 से 30 साल की बीच है उम्र
रि सोल जु की उम्र को लेकर निश्चित तौर पर तो कोई कुछ नहीं जानता, पर खबरों के अनुसार उनकी उम्र 28 से 30 साल के बीच है। अपुष्ट खबरों के अनुसार किम जोंग उन और उनकी पत्न्ी रि सोल जु के तीन संताने हैं।
शादी से पहले थी गायिका 
उत्तर कोरिया के ज्यादातर लोगों का मानना है कि किम जोंग से शादी से पहले उनकी पत्नी एक गायिका थीं। वहीं कुछ लोगों का यह भी कहना है कि वह इस शादी पहले एक चीयरलीडर के रूप में काम कर चुकीं हैं। लेकिन शादी के बाद उनकी सारी पुरानी जानकारी नष्ट कर दी गई।
कुछ भी हो उनकी पुरानी जिंदगी क्या थी, क्या नहीं आज वह उत्तर कोरिया की प्रथम महिला हैं, और उनकी खूबसूरती तो आप भी देख ही रहे हैं।

सोमवार, 26 मार्च 2018

जीवन में सिर्फ एक बार नहातीं हैं यहां लड़कियां, फिर भी शरीर से आती है खुशबू

जीवन में सिर्फ एक बार नहातीं हैं यहां लड़कियां, फिर भी शरीर से आती है खुशबू
दोस्तों आमतौर पर यदि हम आप एक दिन भी न नहाये तो शरीर से पसीने की बदबू आने लगती हैं या फिर बिना नहाये हमें कुछ भारी भारी सा लगता है। यदि हम लोग नहाये न तो किसी काम में मन ही नहीं लगता है। साथ ही दोस्तों के बीच अक्सर सर्दियों में एक दो दिन न नहाने वाले लोगों का मजाक भी खूब बनाया जाता है।

Third party image reference
ऐसे में यदि आपसे कहा जाये कि इस दुनियां में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो पूरी जिंदगी में सिर्फ एक बार ही नहाते हैं तो आपको कैसा लगेगा, सुनकर ही आपको आश्चर्य हो रहा होगा कि भला ऐसा कैसे हो सकता है। पर यह खबर पूरी तरह सच है। आज हम आपको जिस जनजाति के बारे में बताने जा रहे हैं वहां कि लड़कियां और महिलायें जीवन में एक बार ही नहातीं हैं।
अफ्रीका का नाॅर्थ वेस्ट नामीबिया के कुनैन नामक प्रांत में रहने वाली हिम्बा जनजाति की महिलायें जीवन में सिर्फ एक बार ही स्नान करतीं हैं, और वह है अपनी शादी के समय। इस जनजाति की महिलाओं नहाना तो दूर अपने कपड़े धोने के लिये भी पानी का इस्तेमाल नहीं करतीं।

Third party image reference

करतीं है जड़ी बूटियों के धुयें का प्रयोग

बिना नहाये भी इनके शरीर से बदबू न आने का कारण यह है कि वह कुछ खास जड़ी बूटियों को उबालकर उसके धुयें से अपने शरीर को फ्रेश रखतीं हैं। इन जड़ी बूटियों के धुयें के प्रभाव से इनकी त्वचा से न नहाने के बाद भी बदबू नहीं आती।

Third party image reference

धूप से बचने को लगातीं हैं खास लोशन

इन जनजाति की महिलायें अपनी त्वचा को धूप और कीटों के काटने से बचाने के लिये एक खास प्रकार के लोशन का प्रयोग करतीं हैं। इस लोशन को जानवरों की चर्बी और एक विशेष खनिज हेमाटाइट की धूल से तैयार किया जाता है। इस लोशन के लगाने की वजह से इन महिलाओं की त्वचा का रंग लाल हो जाता है।

कुछ ऐसी तस्वीरें जिन पर से जल्द नजर नहीं हटेगी आपकी

कुछ ऐसी तस्वीरें जिन पर से जल्द नजर नहीं हटेगी आपकी
दोस्तों फोटोज़ शेयर करने के लिये जबसे इंस्टाग्राम एक बड़े प्लेटफार्म के रूप में उभर कर आया है, तबसे लोग अपनी फैन फाॅलोइंग बढ़ाने के लिये इस पर एक से बढ़कर एक तस्वीरें शेयर कर रहे हैं। इन तस्वीरों में से कुछ ऐसी होती है जो आपको इन्हें अपलक देखने को मजबूर कर देतीं हैं।
आज हम आपको लिये कुछ ऐसी ही तस्वीरें लेकर आये हैं, जो जितनी आकर्षक हैं उतनी ही अद्भुत है फोटोज़ में दिखने वालों की बैलेंसिग। तो चलिये आप भी आनंद लीजिये इन तस्वीरों का, साथ ही यदि आपको यह पसंद आये, तो हमें कमेन्ट करके बताये और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी जरूर करें।
यह शीर्षासन कैसा लगा आपको, आशा है आप आसन पर ही ध्यान देंगे

Third party image reference

फोटो को ध्यान से देखेंगे तो सारा माजरा समझ जायेंगे, यदि समझ में आ जाये तो कमेंट करके बतायें


Third party image reference

ऐसी किस करने के लिये गजब की बैलेंसिग चाहिये, क्या आपमें है दम


Third party image reference

यह क्या हो रहा है, अथवा यह कौन सा आसन है, यह तो हम आपको नहीं बता सकते। पर बैलेंसिंग की तो दाद देनी ही पड़ेगी।

मोबाइल ही नहीं अपना हाथ भी चार्ज करती है यह लड़की, बिना चार्ज किये काम नहीं करता इसका हाथ

दोस्तों आजकल मोबाइल हमारे जीवन का ऐसा आवश्यक हिस्सा बन गया है कि इसके डिस्चार्ज होने पर पर हमें अपनों से कटने का खतरा सताने लगता है और हम तुरंत ही चार्जर की मदद से इसे पुनः चार्ज करने की कोशिष करते हैं। शायद यही कारण है कि लोगों की इस जरूरत को समझते हुये अब साधारण रेल कोच में भी मोबाइल चार्ज करने की सुविधा दी जाने लगी है।
मोबाइल की चार्जिंग तक तो ठीक है पर यदि आपसे कहा जाये कि इस दुनियां में कई लोग ऐसे भी हैं जिनके लिये मोबाइल चार्जिंग से ज्यादा जरूरी अपने हाथ को चार्ज करना है। आप सोच रहे होंगे कि जरूर यह कोई झूठी खबर है, भला करेंट लगने से तो आदमी मर ही जाता है फिर हाथ कैसे चार्ज हो सकता है। तो जनाव पहले पूरा माजरा तो जानिये।
दोस्तों आज हम आपको बताने जा रहे हैं एक 28 वर्षीय एंजेल ग्रिफिया नाम की एक लड़की के बारे में। जन्म से ही एंजेल के एक हाथ नहीं था, ऐसे में डाॅक्टरों की सलाह पर चार की उम्र में एंजेल के माता पिता ने उसके इलेक्टिक हाथ लगवा दिया। लेकिन यह हाथ अच्छे से तभी काम करता है जब इसे चार्ज किया जाये। जैसे जैसे एंजेल बड़ी होती गई उसके हाथ को भी अपग्रेड किया जाता रहा।
ऐसे में एंजेल सुबह उठते ही मोबाइल के साथ साथ अपने हाथ को चार्जिंग पर लगाती है। उसका कहना है कि मात्र एक घंटे चार्ज करने के बाद उसका हाथ पूरे दिन काम करता रहता है। इलेक्टिकल मोटराइज्ड होने के कारण फोन को चार्जिक की जरूरत पड़ती है और जैसे ही फोन की चार्जिंक एक निश्चित सीमा से कम होने लगती है उसमें से बीच की आवाज आने लगती है।

बुधवार, 21 फ़रवरी 2018

बदल जायेगा आपका मोबाइल नम्बर, अब 10 नहीं 13 डिजिट होंगे

दोस्तों क्या आपको 10 अंकों के मोबाइल नम्बर को याद करने में परशानी होती है, यदि हां तो अब आपकी यह परेशानी और बढ़ने वाली है क्योंकि केन्द्रीय संचार मंत्रालय ने पिछले दिनों हुई एक बैठक में निर्णय लिया है कि चूंकि दस अंकों के लेवल में अब नये मोबाइल नम्बरों की कोई गुंजाइश नहीं बची है अतः दस से अधिक अंको की सीरीज की शुरूआत किया जाना आवश्यक है। 
फैसले के अनुसार 1 जुलाई से जो नये मोबाइल नम्बर मिलेंगे वह 10 की जगह 13 अंकों वाले होंगे, साथ ही 31 दिसम्बर से पहले मौजूदा नम्बरों को भी 13 अंकों के नम्बर में परिवर्तित कर दिया जायेगा।
मोबाइलों के साॅफ्टवेयर भी करने होंगे अपडेट
नये निर्णय के संबंध में सभी सर्किलों की दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनियों को निर्देश जारी कर दिये गये हैं कि वह अपने सिस्टम नयी तकनीक के अनुसार अपडेट कर लें। साथ ही मोबाइल हैंडसेट बनाने वाली कंपनियों को भी निर्देश दिये गये हैं कि वह अपने साॅफ्टवेयर को भी 13 अंकों के मोबाइल नम्बर के अनुसार तैयार करें, ताकि उपभोक्ताओं को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो।
कैसे बदलेंगे वर्तमान नम्बर
जो 10 अंकों के नम्बर वर्तमान में चल रहे हैं उनमें कैसे परिवर्तन होगा यह अभी तय नहीं है। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार वर्तमान नम्बरों को अक्टूबर से 13 अंकों में अपडेट करना शुरू किया जायेगा। इस कार्य को 31 दिसम्बर तक पूरा करना होगा।

बुधवार, 31 जनवरी 2018

दीपिका, प्रियंका, श्रद्धा और कैटरीना का हुआ स्वयंवर, चुन लिये जीवनसाथी

स्वयंवर के बारे में तो आप जानते ही होंगे, सुना तो होगा ही। जब लड़कियां अपने लिये अपनी इच्छा से वर को चुनतीं थीं, और बाकायदा इसके लिये एक समारोह का आयोजन किया था। इस समारोह में विवाह योग्य युवती वहां मौजूद युवकों में से अपनी पसंद के युवक का जीवनसाथी के रूप में चयन करती थी। हमारे इतिहास में इस प्रकार के कई स्वयंवरों का वर्णन मिलता है जिनमें सबसे प्रमुख है रामायण में वर्णित सीता जी का स्वयंवर। 
इंसानों के स्वयंवर तक तो ठीक है लेकिन उत्तराखंड के टिहरी जिले का पंतवाड़ी गांव इस समय लोगों के बीच जबरदस्त चर्चा का विषय बना हुआ है, क्यों कि इस गांव में एक अनूठा स्वयंवर कराया गया है। अनूठा इस लिहाज से कि यहां पर यह स्वयंवर लड़कियों का नहीं बल्कि बकरियों का हुआ है। इस स्वयंवर का आयोजन गोट विलेज और ग्रीन पीपुल किसान विकास समिति नाम की संस्था के द्वारा कराया गया है।
ऐसे चुने बकरियों ने अपने जीवनसाथी
स्वयंवर में अलग-अलग गांवों से सज धज कर बकरे और बकरियां आये। इस स्वयंवर में एक बकरी को कई कई बकरों के साथ छोड़ा गया। इसके बाद जिस बकरी की दोस्ती जिस बकरे के साथ हुई उसी के साथ उसकी शादी करा दी गई। इस स्वयंवर के आयोजकों का कहना है कि अपनी तरह एक यह देश का पहला कार्यक्रम है। 
बकरियों और बकरों को दिये माॅडर्न नाम
समारोह में भाग लेनी वाली सभी बकरियों एवं बकरों को माॅडर्न नाम दिये गये थे। इस स्वयंवर में भाग लेने वाली बकरियों में सबसे ज्यादा चर्चा कैटरीना, श्रद्धा, करीना, दीपिका, प्रियंका आदि फिल्म अभिनेत्रियों के नामों वाली बकरियों की रही। इनमें दीपिका ने अपने जीवनसाथी के रूप में बैसाखू को चुना, तो कैटरीना ने चंदू को और प्रियंका ने टुुकनू को। 
कुछ भी हो यह स्वयंवर इस समय पूरे देश में सुर्खियां बटोर रहा है, अगर आपको भी इस खबर को पढ़कर मजा आया तो हमें फाॅलो करना कतई न भूलें, साथ ही अपनी राय और सुझाव हमें कमेंट करके जरूर बतायें। 

जियो जायेंगे भूल, अब यह कंपनी देगी 1 साल तक फ्री अनलिमिटेड डाटा और काॅलिंग

जबसे भारत में जियो ने पहले फ्री एवं बाद में बेहद सस्ती इंटरनेट सेवा का प्रारम्भ किया है, इंटरनेट प्रयोगकर्ताओं की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। साथ ही भारत डाटा खपत के मामले में दुनियां का नम्बर एक देश भी बन गया है। सस्ते इंटरनेट के कारण इंटरनेट से जुड़े विभिन्न प्रकार के रोजगार भी तेजी से पैदा हुये और हो रहे हैं। इसके अलावा जियो के आने के बाद अन्य सभी मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनियों को भी अपनी डेटा दरों में भारी कमी करनी पड़ी है। फिर भी अभी कोई कंपनी जियो के आॅफरों के आगे ठहर नहीं पा रही।
लेकिन अब एक कंपनी आयी है जियो से भी ज्यादा धमाकेदार आॅफर लेकर। जीं हां यदि आप स्मार्टफोन धारक हैं अथवा आप इंटरनेट का प्रयोग करते हैं तो यह खबर आपके लिये बहुत काम की साबित हो सकती है। क्यों कि अब एक कंपनी आपको अगले एक साल तक फ्री डाटा, काॅलिंग और एसएमएस की सुविधा देने जा रही है। वह भी फ्री सिम के साथ।
4 जी के साथ 3 जी फोन पर भी सर्पोट
जीं हां कुछ समय पहले ही भारत में आयी कंपनी तेजी से अपने उपभोक्ताओं को बढ़ाने के लिये इस प्रकार का आॅफर दे रही है। इस कंपनी के सिम की खास बात यह यह है कि यह 3जी फोन को भी सपोर्ट करेगा। इसके सिम को लेने के लिये आपको कहीं लाइन में लगने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। फिलहाल यह सिम भारत के कुछ राज्यों मंे ही उपलब्ध है। 
अगर चाहिये सिम तो कमेंट में लिखें अपना व अपने राज्य का नाम
यदि आप इस कंपनी की सिम को लेने के इच्छुक हैं तो कृप्या कमेंट बाॅक्स मंे अपना नाम, अपने शहर एवं प्रदेश का नाम जरूर लिखें। ताकि हम आपको आपके यहां इस कंपनी की सिम की उपलब्धता के बारे में जानकरी दे सकें। 

50 किलो की लड़की ने बनाये अपने 200 किलो बजनी प्रेमी के साथ संबंध तो हुआ यह हाल

लड़के लड़कियों का एक दूसरे को पसंद करना, प्यार करना और प्यार में संबंध बनाना पूरी दुनिया का काई भी देश हो, धर्म हो, रंग हो सभी में एक आम बात है। लेकिन कोई लड़की अपने प्रेमी से पहली बार संबंध बनाने के चक्कर में अस्पताल पहुंच जाये ऐसे किस्से कम ही सुनने को मिलते हैं। लेकिन आज हम जो घटना आपको बताने जा रहे हैं उसमें कुछ ऐसा ही हुआ। 
दरअसल एक 22 वर्षीय दुबली पतली लड़की को अपने से एक साल छोटे लेकिन 200 किलो वजन वाले ग्रेग नाम के लड़के से प्यार हो गया। आपस में मिलते जुलते उनकी नजदीकियां इतनी बढ़ गईं कि एक दिन दोनों में संबंध बनाने की नौबत आ गई। लड़की और लड़का दोनों ही इसके लिये काफी एक्साइटेड थे। दरअसल वह दोनों ही अभी तक वर्जिन थे और वह इस मौके को यादगार बनाना चाहते थे।
ऐसे में प्रेमी-प्रेमिका दोनांे ने ही अपने कमरे को अच्छे से सजाया। लेकिन जब संबंध बनाने की बारी आयी तो महज 50 किलो वजनी प्रेमिका अपनी 200 किलो के प्रेमी का वजन संभाल नहीं पायी और दीवार से जा टकरायी। दीवार से टकराने के बाद जहां प्रेमिका बेहाश हो गयी वहीं उसका प्रेमी इस चिंता में घबरा गया कि कहीं वह मर तो नहीं गई। हांलाकि कुछ देर बाद लड़की को जब होश आया तक प्रेमी महोदय की जान में जान आयी। 
खैर इसके बाद चोटिल प्रेमिका को अस्पताल ले जाया गया। जहां डाॅक्टरों ने उसका पूरी तरह से इलाज किया तब जाकर वह ठीक हुई। अस्पताल में प्रेमी को बताया गया कि यदि जा सी लापरवाही और की गई होती तो उसकी प्रेमिका की जान भी जा सकती है। ऐसे में हमारी सलाह यही है आगे से कृप्या ऐसे मौके पर वजन उठाने की अपनी क्षमता का अवश्य ध्यान रखें।

मंगलवार, 30 जनवरी 2018

लड़के की शादी तभी जब करे छः हत्यायें, ऐसी खौफनाक रीति है इस समुदाय की

जनपद फर्रुखाबाद के कायमगंज तहसील क्षेत्र के ग्राम कुबेरपुर में दो दिन पूर्व दो हत्याओं और डकैती की जांच पुलिस ने तेज कर दी है। यह बात और है कि पिछले कुछ दिनों से शायद ही कोई दिन ऐसा जाता हो जिस दिन अखबारों के पन्ने हत्या, चोरी, लूटपाट, राहजनी की बारदातों की खबरों से भरे न होते हों। कल मिलाकर योगी सरकार आने के बाद अपराधों से मुक्ति मिलने की आस लगाये लोगों में अब निराशा घर करने लगी है।
आपकी जानकारी के लिये बता दें कि गुरूवार की रात्रि सशस्त्र बदमाशों ने दो घरों पर धावा बोल कर दो लोगों की हत्या करने के बाद जमकर लूटपाट की थी। इस जघन्य कांड से पुलिस महकमे में हड़कम्प मचा हुआ है। जांच के लिये कई पुलिस टीमों का गठन किया गया है। कोतवाली कामयगंज की पुलिस जांच का केन्द्र बिन्दुु गांव कुबेरपुर को ही मानकर चल रही है।
बदमाशों को सुराग देने में कोई अपना या जानकार 
पुलिस एवं परिजनों का मानना है कि मदमाशों को पूरी सूचना देने के पीछे परिवार के किसी व्यक्ति अथवा किसी जानकार का हाथ हो सकता है। बदमाशों के साथ किसी ऐसे व्यक्ति के होने की पूरी संभावना है जिसे गृहस्वामी अच्छे से जानता हो। पुलिस उपाधीक्षक नरेश कुमार का कहना कि फिलहाल जांच चल रही है, अभी तक कोई खास सफलता नहीं मिली है।
छैमार गिरोह पर है आशंका
        पुलिस टीम को इस घटना के पीछे छैमार गिरोह के होने की पूरी आशंका है। बताया जाता है  िक इस गिरोह का उद्देश्य ही डाका डालने के बाद हत्या करने का होता है। लखनउ और अन्य कई शहरों में भी इस गिरोह के द्वारा इसी प्रकार डाका डालने के बाद हत्यायें की जाने की घटनायें की गईं हैं। एक दो दिन में प्रदेश में कई घटनाओं के मद्देनजर एसटीएफ ने भी अपनी सक्रियता बढ़ा दी है।
लड़के की शादी के लिये छः हत्यायें जरूरी
           छैमार गिरोह के बारे में माना जाता है कि इस गिरोह को लड़के की शादी करने के लिये छः लोगों की जान लेनी होती है। छः लोगों की हत्या के बाद ही शादी की रश्मे पूरी की जातीं हैं। इन लोगों की इसकी परवाह नहीं होती कि घटना के दौरान माल-जेवर मिलेगा कि नहीं। इनका उद्देश्य केवल शादी के लिये जान लेने का होता है। छैमार गिरोह की धरपकड़ के लिये लखनउ की स्पेशल सर्विलांस टीम ने भी जनपद फर्रुखाबाद में डेरा डाल दिया है।