शुक्रवार, 30 दिसंबर 2016

शालिनी दुबे : 21 साल की इस लड़की के सामने झुकतीं हैं बड़ी-बड़ी कंपनियां

   शालिनी दुबे! आज से पहले शायद ही यह नाम आपने पहले कभी सुना हो. आप मार्क जुकरबर्ग को जानते हैं, आप बिल गेट्स को जानते हैं, आप विजय शेखर शर्मा को भी जानते हैं,..और भी बहुत सारी हस्तियां जिनके नाम और काम आपको बखूबी याद है.
लेकिन इस दुनिया में बहुत से लोग ऐसे भी हैं जिनके बारे में टीवी और इन्टरनेट पर ख़बरें नहीं आती, वह इतने प्रसिद्ध नहीं होते, लेकिन उनके काम दुनिया की किसी बड़ी हस्ती से कम नहीं होते।
कौन है शालिनी दुबे?
   
    मूल रूप से उत्तर प्रदेशः के कानपुर शहर के निवासी पिता और अमेरिकी माता की संतान शालिनी दुबे अमेरिका में पैदा हुयी और वह अमेरिका की ही नागरिक हैं. उनकी मां दुनिया के सबसे रहीस व्यक्ति बिल गेट्स के चचेरी बहन हैं और पिता भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी। उनकी माता का नाम क्रिस्टीना गेट्स और पिता का नाम रामशरण दिवेदी हैं.
शालिनी दुबे की शिक्षा!
      शालिनी की प्रारंभिक शिक्षा अमेरिका में ही हुई, अपनी उच्च शिक्षा के लिए उन्होंने मात्र 14 वर्ष की आयु में आई आई टी दिल्ली में विदेशी कोटे के तहत प्रवेश लिया। लेकिंन अपरिहार्य कारणों से उन्हें अपनी कालेज की पढाई बीच में ही छोड़नी पड़ी. यानी अन्य कई सफल हस्तियों की तरह शालिनी भी कालेज ड्रॉपआउट बन गयी.
लेकिन इस कालेज ड्रॉपआउट की प्रतिभा और इसके कार्यों को देखते हुए विश्व की तीन प्रमुख यूनिवर्सिटियों ने इसे सम्मान स्वरुप डॉक्टरेट की उपाधि से संमानित किया।
छोटी सी आयु में पहला कदम
        शालिनी ने मात्र 16 वर्ष की आयु में अपनी खुद की सुपर मार्किट सीरीज स्टार्ट की. लेकिन व्यवसाय का कोई अनुभब न होने के कारन उनका यह स्टार्टअप सफल नहीं हो सका और सारे पैसे डूबता देख उन्होंने इस सीरीज को वालमार्ट ग्रुप को बेच दियाl इस सौदे से शालिनी $3000 डॉलर मिले.
संघर्ष भरे दिन
      स्टार्टअप में असफलता के बाद वह नौकरी के लिए संघर्ष करने लगीं, लेकिन कम आयु होने के कारन उन्हें नौकरी नहीं मिल सकी, परिणामस्वरूप वह हताश हो गयीं। लेकिन उन्होंने एक बार फिर कोशिश की और वालमार्ट से मिले अपने 3000  डॉलर एक प्रमुख VPN सर्विस कंपनी में निवेश कर दिए. और बस यहीं से उनकी सफलता की शुरुआत हो गयी. 
और शालिनी बनी सफलता का पर्याय
      एक साधारण लड़की से बिजनेस टायकून तक के अपने इस सफर में शालिनी दुबे ने जो कुछ हासिल किया वह अचरज से भर देने वाला है, आइये जानते हैं उनके बारे में ऐसे ही कुछ तथ्य :-
  • आप सभी ने “Calvin Klien” नामक कपडे के ब्रांड के बारे में तो सुना ही होगा. शालिनी दुबे इस ब्रांड की 32 % की सायलेंट पार्टनर हैं.
  • आपमें से लगभग 80% लोगों के पास बैंकों का एटीएम होगा, दो प्रमुख कंपनियां मास्टरकार्ड और वीजा हैं जो कि एटीएम कार्ड बनातीं हैं. शालिनी दुबे वीजा कार्डस की भी सायलेंट पार्टनर हैं.
  • इसके अतिरिक्त वे 13 अन्य कंपनियों से बतौर सायलेंट पार्टनर ही जुडी हैं जिनमें प्रीमियम सनग्लासेज बनाने वाली कंपनी ‘Rayban‘ और हवाईजहाज बनाने वाली कंपनी ‘Boing‘ भी शामिल हैं
  • उन्हें अमरीकी राष्ट्रपति ओबामा का काफी करीबी माना जाता हैं वे अमरीकी राष्ट्रपति पद के आगामी प्रबल दावेदार माने जा रहे ‘डोनाल्ड ट्रंप’ की भी बिजनेस पार्टनर हैं.
  • उनकी उम्र इस समय 22 वर्ष है और वे इतने कम समय में ही 24000 करोड़(यह अनुमानित संपत्ति हैं) की मालकिन हैं. इसके अलावा वे 14 लग्जरी गाडियों और 2 शानदार प्राइवेट जेट्स की भी मालकिन हैं.
  • अगर आप मुसलमान हो और शालिनी दुबे से बात करना चाहते हो तो यह नामुमकिन हैं वे मुस्लिमों से बहुत ही नफरत करती हैं क्योंकि उनकी बहन 26/11 मुंबई हमलों में होटल ताज में मारी गई थी.
  • उनके साथ हमेशा प्राइवेट 18 सशस्त्र बाॅडी गार्डस रहते हैं और अमेरिका भी उन्हें भारी भरकम सुरक्षा मुहैया कराता हैं जिसका कारण उनका मुस्लिम विरोधी होना हैं उनकी सुरक्षा पर अमेरिका का लगभग 10 करोड हर साल खर्च होता हैं
  • सन् 2013 में उन्होंने फोर्बस मैगजीन पर केवल इसलिए केस कर दिया था क्योंकि उस मैगजीन ने उनसे बिना इजाजत के उनकी संपत्ति छाप दी थी. फैसला उनके पक्ष में आया और उन्हें यह अधिकार मिला है कि वह अपनी खबरों को मीडिया को छापने को मना कर सकतीं हैं. यही वजह हैं कि आपको उनके बारे में जानकारी नहीं मिलती.
  • वे अमेरिका की सदभावना राजदूत भी हैं. इसके अलावा वे अमेरिकन आर्मी की तीसरी सबसे बडी हथियार सप्लायर हैं. वे व्हाइट हाउस कीं सुरक्षा सलाहकार समिति की हैड भी हैं लेकिन उनकी सुरक्षा की दृष्टि से यह बात हमेशा गुप्त रखी गई.
  • वे लगभग 50 बड़ी कंपनियो का लोगो रिडिजाइन कर चुकीं हैं जिसमें आपके Adidas, Samsung और यहां तक कि Facebook का नया लोगो भी शामिल हैं. इसके लिए वे भारी भरकम रकम लेतीं हैं. इसके पीछे की कहानी यह हैं कि उन्हें अमेरिकी कार्पोरेट वर्ल्ड का लकी चार्म माना जाता हैं
  • उन्हें बच्चे बहुत पसंद हैं. वे हर साल बच्चों के लिए लगभग 2000 करोड दान में देतीं हैं। साथ ही उन्होंने 31 बच्चे गोद ले रखे हैं जिन्हें वे अपने साथ ही रखतीं हैं.
  • उन्हें 31 भाषाओं का ज्ञान है जिनमें अपनी हिंदी भी हैं.
  • वे अमेरिकी खुफिया एजेंसी CIA की साइबर सिक्योरिटी हैड भी हैं और वे इस पद के लिए अवैतनिक सेवाएं देतीं हैं. इससे पहले वे अमेरिकन आर्मी में भी अपनी सेवाएं दे चुकीं हैं. उन्हें अमरीका की सेना के तीनों शाखाओं की ट्रेनिंग मिली है.


(प्रिय पाठकों, यदि आपको यह "Success story" संद आयी तो इसे नीचे दिए सोशल मीडिया लिंक्स के माध्यम से अपने दोस्तों के साथ शेयर करिये साथ ही अगर आपके आस-पास भी किसी ने किसी भी क्षेत्र में कोई उल्लेखनीय सफलता हासिल की तो आप उसकी कहानी हमें up.farrukhabad@gmail.com पर मेल कर सकते हैं. हम आपके नाम व् फोटो सहित उसे www.IndiaEpay.com पर स्थान देंगे। ताकि और लोग  प्रेरणा ले सकें।)
Previous Post
Next Post

0 comments: