गुरुवार, 19 जनवरी 2017

अब 30,000/- रूपये के लेन-देन पर भी दिखाना पड़ेगा पेन कार्ड!

     अगर आपने अभी तक पेन कार्ड नहीं बनवाया है तो जल्दी से बनवा लीजिये, क्योंकि अब बिना पेन कार्ड के कई मुश्किलें आ सकती हैं. जी हाँ नोटबंदी के बाद पैदा हुई नकदी समस्या के कारण लोंगो ने तेजी से डिजिटल पेमेंट को अपनाना शुरू किया था, लेकिन जैसे-जैसे नकदी संकट कम हो रहा है केश लैस मुहीम की अचानक तेज हुई रफ्तार मंद पड़ने लगी है। ऐसे में सरकार डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने और कैश ट्रांजैक्शन को हतोत्साहित करने के लिए आगामी बजट में कुछ कदम उठा सकती है।  
        सरकारी सूत्रों के अनुसार सरकार बिना पेन कार्ड के नकदी लेन-देन की वर्तमान 50,000/- रूपये की सीमा को घटाकर 30,000/- करने जा रही है, आगामी बजट में इसका ऐलान हो सकता है. 
      इसी के साथ जमीन, मकान, दुकान, खेत आदि की खरीद बिक्री एवम बड़े नकदी लेन-देन में भी पेन कार्ड अनिवार्य किया जा सकता है. 
       इनके अलावा, सरकार खास सीमा के नकदी पेमेंट्स के ऊपर कैश-हैंडलिंग चार्जेज भी लगा सकती है। इन कदमों से नकदी लेन-देन को कम करने और डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने का सरकारी अभियान रंग ला सकता है। दरअसल, चिंता इस बात की है कि अब बैंकों और एटीएमों से कैश निकालने की सीमा बढ़ने के बाद नकदी संकट खत्म होने से देश में नोटबंदी से पहले का लेन-देन का तरीका ही हावी न हो जाए।
Previous Post
Next Post

0 comments: