बुधवार, 4 जनवरी 2017

मोदी के एक "भीम" के सामने दर्जन भर से ज्यादा "फर्जी भीम" मैदान में

       प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने "भीम एप" को लांच करते हुए ज्यादा से ज्यादा लोंगो को इस एप का प्रयोग करने की सलाह दी थी, उनकी सलाह का असर कहें या मोदी की लोकप्रियता महज 4-5 दिनों के अंदर ही "भीम" गूगल प्ले स्टोर पर सबसे ज्यादा डाऊनलोड होने वाले एप में से एक बन गया है. 
         भीम की इस लोकप्रियता को देखते हुए "हैकर्स" की नजर भी इस पर आ गयी हैं और देखते ही देखते गूगल प्ले स्टोर और अन्य माध्यमों पर दर्जन भर से ज्यादा फर्जी भीम एप मैदान में उतार दिए गए हैं. 
       
गूगल प्ले स्टोर पर जाकर भीम टाइप करते ही दर्जन भर से ज्यादा दिखने में एकदम असली जैसे दर्जन भर से ज्यादा "फर्जी भीम" एप सामने आ जाते हैं, ऐसे में साइबर दुनिया की ज्यादा जानकारी न रखने वाले लोग चकरा जाते हैं की कौन सा एप असली है और कौन सा नकली?
      कई सारे एप ऐसे भी हैं जो खुद को गवर्नमेंट सर्टिफाई बताते हुए खुद के असली होने का दावा भी ठोंकते हैं, ऐसे में जरा सी लापरवाही आपके लिए मुसीबत बन सकती है और "हैकर्स" आपकी गाड़ी कमाई पर अपना हाथ साफ कर सकते हैं.
कैसे पहचाने असली "भीम"  को ?

  • भीम एप ही नहीं किसी भी एप को गूगल प्ले से ही डाऊनलोड करें, किसी अन्य वेबसाइट अथवा लिंक का का प्रयोग कर एप्स डाऊनलोड न करें।
  • एप के डेवलपर पर ध्यान दें, असली भीम एप के डेवलपर के रूप में नेशनल पेमेंट कारपोरेशन ऑफ़ इण्डिया (NPCI) लिख कर आता है. 
  • एडीशनल इनफार्मेशन में Offered by  में National Payments Corporation of India (NPCI)लिखा जरूर देखें।
  • ("भीम" के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें)
Previous Post
Next Post

0 comments: