बुधवार, 4 जनवरी 2017

अब गूगल बनाएगा छोटे व्यापारियों को डिजिटल

   विश्व का नंबर एक सर्च इंजन व् टेक्नोलॉजी दिग्गज कंपनी गूगल भारत में पांच करोड़ से ज्यादा छोटे व मझोले उद्यमों (एसएमई) को डिजिटल बनाने में मदद करेगी। बाजार के इस कारोबारी खंड में पैठ बनाने के लिए कंपनी के मुखिया सुंदर पिचाई ने बुधवार को कई नई पहलों का एलान किया।

 कंपनी ने इस दिन 'डिजिटल अनलॉक्ड' और मोबाइल एप 'प्राइमर' को लांच किया। छोटे व मझोले व्यवसायों यानी एसएमबी के लिए पहल की घोषणा करते हुए भारत में जन्मे पिचाई ने कहा, 'कंपनी देश के लिए खास उत्पादों पर काम कर रही है। इन्हें बाद में ग्लोबल स्तर पर विस्तार दिया जाएगा।
   इस घोषणा के मौके पर केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद भी मौजूद थे। इस दौरान प्रसाद ने कहा कि गूगल उतनी ही भारतीय कंपनी है जितनी कि अमेरिकी।
    इसलिए इस कंपनी को अपने उत्पाद यहां की जरूरतों के मुताबिक बनाने चाहिए। साथ ही साइबर सुरक्षा को मजबूत बनाने की दिशा में भी काम करना चाहिए।
   गूगल के सीईओ ने कहा, 'मैं यहां कंपनी पर नहीं, छोटे कारोबारियों के बारे में बात करने आया हूं। जब हम भारत जैसे देश के लिए कोई समाधान सोचते हैं, तो वह पूरी दुनिया में हर किसी के लिए होता है। हम यहां टीम बनाकर सुनिश्चित करेंगे कि हमारे उत्पाद सभी के लिए उपयोगी हों।'
क्या है डिजिटल अनलॉक्ड?
    यह गूगल की ओर से छोटे व मझोले व्यवसायों को ऑनलाइन होने और अपने कारोबार के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करने में सक्षम बनाने के लिए एक ट्रेनिंग प्रोग्राम है। यह छोटे कारोबारों की डिजिटल यात्रा शुरू करने में मदद करेगा। इसके तहत कंपनी देश के 40 शहरों में 5,000 से ज्यादा वर्कशॉप आयोजित करेगी।
यह प्रशिक्षण फिक्की के साथ मिलकर दिया जाएगा। इसके तहत दी जाने वाली ट्रेनिंग गूगल, इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस और फिक्की से सर्टिफाइड होगी।
क्या है"प्राइमर"की खूबी
गूगल की ओर से लांच प्राइमर एक मुफ्त मोबाइल एप्लिकेशन है। इसे बातचीत के लहजे में डिजिटल मार्केटिंग कौशल सिखाने के लिए अनूठे तरीके से तैयार किया गया है।
एंड्रॉयड और एप्पल के मोबाइल फोन के लिए उपलब्ध प्राइमर ऑफलाइन भी काम करता है।
फिलहाल इसे अंग्रेजी, हिंदी, मराठी, तमिल और तेलुगु भाषाओं में उपलब्ध कराया गया है।
इसके अलावा माई बिजनेस पहल के तहत कोई भी छोटा कारोबारी स्मार्टफोन से अपनी वेबसाइट बना सकता है।
टाटा ट्रस्ट-गूगल ने किया गठजोड़
देश के ग्रामीण इलाकों में डिजिटल इकोनॉमी को आगे बढ़ाने के लिए टाटा ट्रस्ट्स और गूगल इंडिया ने मोबाइल वॉलेट चलाने वाली कंपनी मोबीक्विक के साथ गठजोड़ का एलान किया है।
इस गठजोड़ के बाद टाटा और गूगल की 'इंटरनेट साथी' पहल को विस्तार मिलेगा। इस पहल के जरिये 20 करोड़ लोगों को डिजिटल रूप से साक्षर बनाकर उनकी जिंदगी में बदलाव लाने का इरादा है।
Previous Post
Next Post

0 comments: