मंगलवार, 31 जनवरी 2017

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक लॉन्च, आम बैंकों से ज्यादा सुविधाएँ और ब्याज

      लगभग हाशिये पर चले गए डाक विभाग को एक नयी जान मिली है, अब पोस्टमैन केवल डाक ही नहीं लाएंगे, बल्कि बैंक भी आपके दरवाजे तक लाएंगे. सरकार ने इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक की औपचारिक शुरुआत कर दी है. सितम्बर तक देश के सभी 650 जिलों में इसकी शाखाएं खोलने का लक्ष्य है.
     डाकघर अब बैंकिंग के कारोबार में निजी क्षेत्रों के साथ दो-दो हाथ आजमाएंगे, ये मुमकिन होगा इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक की बदौलत. करीब 800 करोड़ रुपये के निवेश के साथ शुरु इस प्रोजेक्ट की पहली दो शाखा की शुरुआत रायपुर और रांची में की गयी और उसी के साथ छह और शाखाओं ने भी काम करना शुरु कर दिया. 
       पेमेंट बैंक तकनीक आधारित बैंकिंग व्यवस्था है जिसमें सामान्य खाते में ज्यादा से ज्यादा एक लाख रुपये जमा कराया जा सकता है. लेकिन ये बैंक कर्ज नहीं दे सकते.
संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि ये दरवाजे तक बैंक लाने की बात को पूरी करेगा. तीन लाख से भी ज्यादा डाकिए हैंड हेल्ड मशीन के जरिए बैंकिंग सुविधा मुहैया कराएंगे.
     प्लान के मुताबिक सितंबर 2017 तक 650 जिलों में स्थित प्रधान डाकघर इस बैंक की शाखाएं बन जाएंगे। नई परियोजना के तहत 25 हजार रुपए तक की जमा पर 4.5 प्रतिशत, 25 हजार से 50 हजार तक की जमा पर पांच प्रतिशत और 50 हजार से एक लाख रुपए तक की जमा पर 5.5 प्रतिशत ब्याज दिया जाएगा। इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक खासकर के गांवों और दूर-दराज के इलाकों में पेमेंट्स सर्विसेज उपलब्ध कराएगा।
      बचत खाते के साथ एक डेबिट कार्ड मिलेगा जिसके जरिए एटीएम से पैसा निकालने के साथ-साथ खरीदारी और दूसरे लेन-देन किए जा सकेंगे.·डाक घरों के एक हजार के करीब एटीएम भी जल्द ही आ जाएंगे
Previous Post
Next Post

0 comments: