गुरुवार, 5 जनवरी 2017

मोदी सरकार देगी देश के हर नागरिक को मासिक आमदनी

नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्रीय सरकार "यूनिवर्सल बेसिक इनकम" स्कीम लाने की तयारी कर रही है, सरकार नोटबंदी के बाद देशभर के लोगों को बड़ा तोहफा दे सकती है। इसके तहत देश के हर नागरिक को हर महीने आमदनी के तौर पर एक तयशुदा रकम मिलेगी।
        सूत्रों के मुताबिक, आर्थिक सर्वे और आम बजट में इसका ऐलान हो सकता है।
     यह भी कहा जा रहा है कि अगर सबके लिए नहीं तो सरकार कम-से-कम उन जरूरतमंदों के लिए यह स्कीम लागू करेगी, जिनके पास कमाई का जरिया नहीं है। हर अकाउंट में 500 रुपये डाल कर योजना की शुरुआत हो सकती है। इससे देश भर के करीब 20 करोड़ जरूरतमंदों को फायदा मिल सकता है।
     यह प्रस्ताव लंदन यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर गाय स्टैंडिंग ने तैयार किया है। जिनीवा से बातचीत में उन्होंने दावा किया कि मोदी सरकार से जुड़े एक जिम्मेदार शख्स ने कन्फर्म किया है कि बजट में इसका ऐलान मुमकिन है। प्रोफ़ेसर गाय ने संकेत दिया कि सरकार इसे फेज वाइज लागू कर सकती है।
         उन्होंने कहा कि सरकार ने मध्य प्रदेश की एक पंचायत में पायलट प्रॉजेक्ट के तौर पर ऐसी स्कीम पर काम किया था, जहां बेहद साकारत्मक नतीजे आए थे। प्रपोजल में अमीर-गरीब सबके लिए निश्चित आमदनी की बात कही है। प्रोफ़ेसर गाय पूरी दुनिया में यूनिवर्सल बेसिक इनकम की पुरजोर वकालत करते रहे हैं।
          सरकारी सूत्रों ने बजट में इस स्कीम के बारे में कुछ भी बताने से इनकार कर दिया, लेकिन प्रोफ़ेसर गाय का कहना है कि मुझे पिछले दिनों सरकार के टॉप अधिकारियों की ओर से बताया गया कि वो बजट सर्वे में मेरी रिपोर्ट को शामिल कर रहे हैं। 
        योजना के बारे में प्रोफ़ेसर का कहना है की यह योजना तभी सफल होगी जब अमीर-गरीब का भेद किए बिना हर नागरिक को खास इनकम हर महीने मिले। इसमें भेद किया तो फिर स्कीम अपने मूल रूप में नहीं रहेगी। करप्शन बढ़ेगा। हां, एक बार सभी को पैसे देने के बाद जो गरीबी के दायरे से बाहर आएं उनसे सब्सिडी वापस लें या दूसरे तरीके से राशि वापसी का सिस्टम बनाएं। सभी को आधार नंबर से जोड़कर यह लाभ मिलेगा।       उनका कहना है कि मोदी अगर इसे लागू करते हैं तो उन्हें राजनीतिक रूप से भी बहुत बड़ा लाभ होगा। नोटबंदी के बाद वह गरीबों के हितैषी माने जा रहे हैं और यह स्कीम भारत जैसे देश जहां सबसे बड़ी ऐसी आबादी है जिसका हर महीने की कोई निश्चित आय नहीं है, उनके लिए यह जादू होगा।यह नरेंद्र मोदी का बहुत बोल्ड डिसीजन होगा और देश के इतिहास में गेमचेंजर होगा।
Previous Post
Next Post

0 comments: