सोमवार, 13 फ़रवरी 2017

बिक गया भारत का पहला कार ब्रांड "एम्बसेडर"

 किसी ज़माने में भारत में शान ओ शौकत और रुतवे का पर्याय रही भारत की पहली स्वदेशी कार एंबेसडर को हिंदुस्तान मोटर्स ने 80 करोड़ रुपये में फ्रांसीसी कार ब्रांड प्यूजो एसए को बेच दिया है. हिंदुस्तान मोटर्स ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा है कि इसमें ट्रेडमार्क भी शामिल है. एंबेसडर ब्रांड की बिक्री के लिए प्यूजो एसए से यह सौदा 80 करोड़ रुपये में हुआ है. 
 एंबेसडर कार जो कभी देश के राजनेताओं और अफसरों की पहली पसंद हुआ करती थी, जिसको भारत में कारों का स्टेटस सिंबल माना जाता था और ये "किंग ऑफ इंडियन रोड" के नाम से मशहूर थी. पहले देश के सभी राजनेताओं के पास ये ही कार हुआ करती थी और संसद के बाहर इससे निकलते पीएम और सभी बड़े नेताओं की तस्वीर एंबेसडर की पहचान हुआ करती थी. एंबेसडर भारतीय नेताओं-मंत्रियों की शान की सवारी थी और इसमें नेताओं का सफर शाही सवारी से कम नहीं माना जाता था, आज वही एम्बेसडर ब्रांड कौड़ियों के दाम एक विदेशी कंपनी ने खरीद लिया।
आइये जानते है एम्बेसडर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य :- 
  • हिंदुस्‍तान मोटर्स ने एम्बेसडर का निर्माण 1958 में करना शुरू किया था.
  • ये गाड़ी ब्रिटेन के मोरिस ऑक्‍सफोर्ड सीरीज 3 कार के मॉडल की तरह थी.
  • एंबेसडर पहली ऐसी कार थी जिसका निर्माण भारत में किया गया. इसे भारत में स्‍टेटस सिंबल माना जाता था.
  • 1980 के मध्‍य में मारुति सुजुकी के भारत आने के बाद भारतीय बाजार में इसका वर्चस्‍व कम हुआ. मारुति ने मारुति 800 गाड़ी एंबेसडर से कम कीमत पर बाजार में उतारी थी.
  • ब्रिटेन से प्रेरणा लेने के बावजूद एंबेसडर को हमेशा ही इंडियन कार कहा जता रहा है. इसे 'किंग ऑफ इंडियन रोड' का दर्जा भी मिला.
  • टोयटा, फोर्ड जैसी कई विदेशी कंपनियों के बाजार में आ जाने से इसकी लोकप्रियता में गिरावट आनी शुरू हो गयी.
  • घाटे के चलते एम्बेसडर कारों का निर्माण तीन साल पहले ही यानी साल 2014 में बंद कर दिया गया था.
  • एंबेसडर कारों की घटती बिक्री और इस कार की उत्पादन लागत बेतहाशा बढ़ जाने के कारण इसकी मालिक कंपनी हिंदुस्तान मोटर्स ने प्यूजो एसए ग्रुप के साथ अपने ब्रांड और ट्रेडमार्क एंबेसडर को बेचने का समझौता सिर्फ 80 करोड़ में कर दिया.
  • सौदे से मिली रकम से कंपनी के कर्मचारियों और लेनदारों का कर्ज चुकाया जाएगा.
Previous Post
Next Post

0 comments: