बुधवार, 18 अक्तूबर 2017

दीपावली की कोटि कोटि शुभ कामनाएँ

दिए और हम इंसानों के बीच कई समानताएं हैं,
दोनों मिट्टी के बने होते हैं, 
चेतना ही दोनों को प्रज्वलित करती है। 
दिया जलता है तो चारों उजाला फैलता है। 
हमारी चेतना प्रज्वलित होती है  तो घर, समाज और परिवेश में उजाला फैलता है।
इसी प्रज्वलित विचार के साथ दीपावली की कोटि कोटि शुभ कामनाएँ 

Ashish Mishra
Majestic India solar & electrical
Farrukhabad (U.P.)
Visit us : www.majesticindia.in
Like us at : www.facebook.com/majesticindiasolar
Previous Post
Next Post

0 comments: