मंगलवार, 12 दिसंबर 2017

आपके आधार का दुरुपयोग तो नहीं हो रहा? जानिए कहाँ-कहाँ प्रयोग किया गया है आपका आधार।

          ‘‘आधार’’ यह पहचान का एक ऐसा प्रमाण बन चुका है जिसकी सरकारी के साथ-साथ प्राइवेट सेवाओं के लिये भी आवश्यकता पड़ने लगी है, या यूं कह लें कि अपनी पहचान को प्रमाणित करने के लिये सबसे सरल साधन बन गया है आधार। 
मोबाइल कनेक्शन हो, छात्रवृत्ति हो, बैंक खाता हो या फिर गैस सब्सिडी सभी जगह आधार अनिवार्य होता जा रहा है। इसका एक कारण यह भी है कि आधार के माध्यम से डुप्लीकेशी की गुंजाइश खत्म हो जाती है। इसीलिये आजकल प्राइवेट कंपनियां भी आधार के माध्यम से बैंक खाते खोलने, लोन देने जैसे कामों को बखूबी कर रही हैं।
लेकिन इस सबके बीच हमारे मन में अक्सर यह शंका आती हैं कि कहीं हमारे आधार कार्ड का दुरूपयोग तो नहीं हो रहा? अथवा हमारा आधार पिछले दिनांे में कितनी बार प्रयोग किया गया है? और कैसे?
यदि आपके मन में भी अक्सर इस तरह के सवाल आते हैं तो अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं हैं। यूआईडीएआई (UIDAI) ने आपकी इस समस्या का समाधान निकाला है। अब आप यूआईडीएआई की बेबसाइट पर जाकर आसानी से यह जानकारी प्राप्त कर सकते हैं कि आपके आधार को कहां-कहां और कब प्रयोग किया गया है? 
     आइये जानते हैं आपको इसके लिये क्या करना होगा?
1. सबसे पहले आपको यहां क्लिक करके यूआईडीएआई (UIDAI) की बेबसाइट को ओपन करना होगा। अब आपके सामने इस तरह से बेबसाइट का इंटरफेस ओपन हो जायेगा। 
यहां आपको "Aadhaar Authentication history"  विकल्प पर क्लिक करना होगा। 
2. क्लिक करते ही आपके सामने इस तरह से एक नयी विंडो ओपन हो जायेगी। 

यहां पर आपको अपना आधार नम्बर और कैप्चा कोड डालकर ‘‘जेनरेट ओटीपी’’ पर क्लिक करना होगा।
3. क्लिक करते ही आपके सामने इस तरह से स्क्रीन आ जायेगी 

यहां पर आप अपनी इच्छानुसार विकल्प चुनने के बाद अपने मोबाइल पर आये ओटीपी को दर्ज करेंगे और सबमिट करेंगे।
        आपके सामने आपके आधार का प्रयोग कब, कहां और किस तरह से किया गया इसका पूरी जानकारी आ जायेगी।
           आशा है आपको यह जानकारी पसंद आयी होगी. यदि हाँ तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि वह भी इस जानकारी का लाभ उठा सकें। साथ ही यदि आपको इस प्रक्रिया को समझने में कोई समस्या आ रही है तो नीचे दिए वीडियो को जरूर देखें, और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करना बिलकुल ना भूलें. 
Previous Post
Next Post

0 comments: